श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में बाबा भक्तों को बेहतर से बेहतर सुविधा मुहैया कराई जाए- डॉक्टर नीलकंठ तिवारी

श्रावण मास के दौरान आने वाले कांवरियों को श्री काशी विश्वनाथ मंदिर तक पहुंचने को सुगम बनाया जाए- सूचना राज्य मंत्री

बाबा भक्तों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए

श्रावण महीने में श्रद्धालुओं को पंचकोसी परिक्रमा दर्शन कराने और काशी में विराजमान द्वादश ज्योतिर्लिंग का दर्शन कराए जाने हेतु पर्यटन विभाग पैकेज तैयार करेगा

एक दिवसीय पंचकोसी परिक्रमा दर्शन और द्वादश ज्योतिर्लिंग का दर्शन पैकेज पूरे एक माह तक श्रावण महीने में प्रभावी होगा

निश्चित धनराशि के भुगतान पर श्रद्धालुओ को वाहन के माध्यम से जलपान आदि कराते हुए एक दिन में पंचकोसी परिक्रमा दर्शन एवं द्वादश ज्योतिर्लिंगो के दर्शन कराए जाएंगे

बाबा श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में उनके दर्शन को आने वाले उनके भक्तों के लिए बिछेगा रेड कारपेट

उत्तर प्रदेश के विधि-न्याय, युवा कल्याण, खेल एवं सूचना राज्यमंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने 17 जुलाई से 15 अगस्त तक एक माह तक चलने वाले श्रावण मास के दौरान श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों को बेहतर से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराए जाने के साथ ही श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की परेशानी न होने देने की अधिकारियों को निर्देश दिया है। उन्होंने मंदिर परिसर एवं आसपास मजबूत बैरिकेटिंग के साथ ही बाबा दर्शन के लिए ने वाले श्रद्धालुओं के लिए रेड कारपेट लगाए जाने का भी निर्देश दिया।
उत्तर प्रदेश के विधि-न्याय, युवा कल्याण, खेल एवं सूचना राज्यमंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी रविवार को श्री काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर स्थित मंदिर कार्यालय में श्रावण मास की तैयारियों के संबंध में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। श्रावण के सोमवार को सुगम दर्शन की भी व्यवस्था रहेगा। मैदागिन से गोदौलिया तक नो व्हीकल्स ज़ोन रहेगा। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर तक होने वाले बैरिकेटिंग के प्रत्येक 100 मीटर पर श्रद्धालुओं को पीने के लिए पानी की व्यवस्था तथा गिलास की उपलब्धता सुनिश्चित कराए जाने का उन्होंने निर्देश दिया। मंदिर परिसर एवं आसपास 24 घंटे चाक चौबंद सफ़ाई व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने के लये 24 घंटे 8-8 घंटे की शिफ्ट में सफाई कर्मियों की तैनाती किये जाने का निर्देश दिया। साथ ही मंदिर में अधिकारियों की 8-8 घंटे की शिफ्ट में 24 घंटे ड्यूटी लगाये जाने का निर्देश दिया। उन्होंने चितरंजन पार्क एवं टाउन हॉल में पूर्व की भांति कांवरिया सेवा शिविर लगाए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि शिविर में आवश्यक बुनियादी सुविधाएं भी मुहैया कराई जाए। ताकि शिव भक्तों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने नगर आयुक्त को निर्देशित किया कि श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के आसपास की सड़कों एवं गलियों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए और इसके लिए सफाई कर्मियों की 24 घंटे की 08-08 की 03 शिफ्ट में ड्यूटी लगाई जाए। आसपास की क्षतिग्रस्त एवं उबड़ खाबड़ गलियों का भी मरम्मत तत्काल करा दिया जाए।
मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी ने पर्यटन विभाग को श्री काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट एवं जिला प्रशासन के साथ मिलकर श्रावण मास के दौरान एक दिवसीय पंचकोसी परिक्रमा दर्शन एवं काशी में विराजमान द्वादश ज्योतिर्लिंग के दर्शन कराए जाने हेतु एक आकर्षक पैकेज बनाए जाने का निर्देश दिया। पैकेज में एक निश्चित और न्यूनतम धनराशि का भुगतान कर श्रद्धालुओं को वाहन के द्वारा पंचकोसी परिक्रमा दर्शन एवं काशी में विराजमान द्वादश ज्योतिर्लिंगों के दर्शन कराए जाएंगे। पूरे दिन के इस पैकेज में श्रद्धालुओं को जलपान आदि की भी व्यवस्था पैकेज में सम्मिलित रहेगी। मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि श्रावण मास में पूरे एक माह तक चलने वाला यह विशेष पैकेज यदि सफल रहता है तो इसे हमेशा के लिए लागू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इससे जहां श्रद्धालुओं को सुविधा मिलेगी, वही उनका समय भी बचेगा और यह योजना पर्यटकों को निश्चित रूप से आकर्षित भी करेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री एवं यहां के सांसद नरेंद्र मोदी द्वारा पहले ही पंचकोसी परिक्रमा मार्ग को उच्च स्तर का बनवाकर उद्घाटन किया जा चुका है और गत दिनों उनके द्वारा इस मार्ग पर वृहद स्तर पर वृक्षारोपण करा कर पूरे पंचकोशी परिक्रमा मार्ग को श्रद्धालुओं के सुविधायुक्त किया जा चुका है।
उन्होंने श्रावण मास के दौरान सुरक्षा के चाक चौबंद व्यवस्था किये जाने का भी निर्देश दिये गए। श्रद्धालुओं के साथ सुरक्षा कर्मी भक्तो सा व्यवहार करें। गोदौलिया, मैदागिन, चित्तरंजन पार्क सहित मंदिर के पास एम्बुलेंस सहित चिकित्सक दवाओँ के साथ ड्यूटी पर तैनात रहेंगे। इस बार कतार में खड़े बाबा भक्तो को “चल भोले” के सम्मान के साथ आगे चलने के लिए संबोधित किया जायेगा। पूरे मंदिर परिसर एवं आसपास का क्षेत्र “ॐ नमः शिवाय” के उद्घोष से गूँजता रहेगा। बैरिकेटिंग में भक्तो के किये मैटी भी बिछाई जाएगी।
गौरतलब है कि इस वर्ष श्रावण मास 17 जुलाई 2019 से आरंभ होकर 15 अगस्त 2019 को समाप्त होगा। श्रावण मास में श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में श्रावण मास के प्रथम सोमवार 22 जुलाई 2019 को भगवान शंकर का श्रृंगार, श्रावण मास के द्वितीय सोमवार 29 जुलाई को भगवान शंकर व मां पार्वती का श्रृंगार, श्रावण मास के तृतीय सोमवार व नागपंचमी 5 अगस्त 2019 को अर्धनारीश्वर का श्रृंगार, श्रावण मास के चतुर्थ सोमवार 12 अगस्त 2019 को रुद्राक्ष से श्रृंगार तथा 15 अगस्त 2019 रक्षाबंधन, पूर्णिमा को शिव-पार्वती एवं गणेश जी की चल प्रतिमाओं का झूला श्रृंगार होगा।
बैठक में कमिश्नर दीपक अग्रवाल, नगर आयुक्त, मुख्य कार्यपालक अधिकारी विशाल सिंह सहित लोक निर्माण विभाग, जल निगम, जल संस्थान, विद्युत आदि विभागों के अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।