Club NewsNews

मुहिम : ‘‘काशी के सिपाही’’ से 700 छात्राओं को जोड़ा गया

वाराणसी। भारत विकास परिषद् काशी द्वारा संचालित मुहिम ‘‘काशी के सिपाही’’ के तहत रविवार को रोटरी क्लब वाराणसी सेन्ट्रल के सहयोग से नगवा, लंका स्थित इंटरनेशनल हिन्दू स्कूल में ‘‘चेजिंग सिनेरियो आफ इंडियन फीमेल एजुकेशन’’ विषयक गोष्ठी का आयोजन हुआ। साथ ही स्कूल की लगभग 700 छात्राओं के लिए सेनेटरी पैड प्रदान किया गया।

कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि डा.के.पी. अग्रवाल (पूर्व अध्यक्ष, आई.एम.ए.), डा.सुमन कुमार मिश्र द्वारा मां भारती एवं स्वामी विवेकानन्द के चित्र पर माल्यापर्ण के बाद वन्देमातरम से हुआ। जिसके बाद रोटरी क्लब वाराणसी सेन्ट्रल के अध्यक्ष रो.संजय गुप्ता ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह एवं अंगवस्त्र भेंट का उनका अभिनन्दन किया।

इस अवसर पर काशी शाखा के अध्यक्ष रजत मोहन पाठक ने बताया कि सत्र 2019-20 में कुल 50 विविध कार्यक्रमों के माध्यम से 38089 लोगों को लाभान्वित किया जा चुका है। वही ‘‘काशी के सिपाही’’ मुहिम जो कि जनपद में अब तक की सबसे बड़ी एवं महत्वाकांक्षी महिला सेवा केंद्रित मुहिम बन चुकी हैं इस अति महात्वाकांक्षी मेंसुरेशन हाईजीन के लिए कार्य करते हुए इस मुहिम का लाभ लगभग 30000 महिलाओं तक पहुंचाने की योजना है।

मुख्य वक्ता के तौर पर मौजूद प्रख्यात् शिक्षाविद्, विचारक डा.सुमन कुमार मिश्र ने कहा कि महिलाओं के शिक्षित होने से सिर्फ दो परिवार ही शिक्षित नही होता, बल्कि समाज का भी विकास होता है। देश के विभिन्न प्रदेशों में महिलाओं के शिक्षित होने का ग्राफ अलग अलग है, जहां केरल में 92 प्रतिशत तो वही राजस्थान में 30 प्रतिशत। फिर भी महिलाएं लगभग हर परीक्षा में आगे नजर आती है। साथ ही उन्होने कहा कि बच्चों की नेचुरल प्रतिभा को प्रोत्साहित करने से ही उसका सही विकास होगा, न कि अपने विचार उन पर थोपने से।

कार्यक्रम का संचालन रो.संतोष अग्रवाल एवं धन्यवाद ज्ञापन प्रिंसपल अंजू दूबे ने किया। इस अवसर पर सचिव अमित अग्रवाल, हिमांशु पशरीचा, जीवन खन्ना, मुकुन्द लाल अग्रवाल, शशि श्रीवास्तव, हीना मेहरोत्रा सहित बड़ी संख्या में संस्थाओं के सदस्य सहित शिक्षिकाएं, छात्राएं मौजूद रही।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button