NGO

12 परिवारों की जीविका चलाने में सहायक बनी बेटियां फाउंडेशन – अंजू पाण्डेय

मेरठ| कोरोना महामारी की जंग से पूरा विश्व लड़ रहा है। जिसमे सबसे दयनीय दशा मजदूरों की दिखाई दे रही है। जो हर दिन अपने परिवार के पेट भरने की सोचते हैं जो मांग लेते हैं वे पेट भर लेते हैं मगर कुछ ऐसे हैं जिनको मांगकर खाना अपना आत्मसम्मान गिराना है। इस लॉक डाउन में पेट की खातिर लोगो ने आत्मसम्मान को भी धकेल दिया। शिवा कलियागढ़ी निवासी जिसकी दो बेटियां व पत्नी है व सलोनी कई दिन से आधे पेट खाकर रह रहे थे।बेटियां फाउंडेशन की अध्यक्ष अंजू पाण्डेय को जब इनके बारे में पता चला तो उनसे बात की और उन्हें जरूरत भर का राशन दिया ताकि वे भूखे न सो सके आपको बताते चले कि लॉक डाउन 2 से बेटियां फाउंडेशन इस परिवार की लगातार मदद कर रही हैं और आगे भी मदद करती रहेगी और अंजू पाण्डेय प्रशासन से भी मदद की मांग करती है कि संस्था का सहयोग करे क्योंकि अनेक ऐसे लोग हैं जो खाना मांग नही पाते भूखे रह जाते हैं या घरेलू हिंसा पर उतारू हो जाते हैं या आत्महत्या के लिये तैयार हो जाते हैं ।भूख के कारण कोई गलत कदम ना उठाये इसलिए सही फोन नं दिया जाय और उस कॉल पर खाना दिया जाय।

Show More

Related Articles

Back to top button