Health

52 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर 5693 लोगों की हुई सेहत की मुफ्त जांच

संचारी रोग नियंत्रण अभियान मुख्यमंत्री का बेहद महत्वकांक्षी कार्यक्रम है और सरकार इसकी रोकथाम के लिए बेहद गंभीर है-अनिल राजभर

सरकार द्वारा समय-समय पर जन जागरूकता अभियान चला रही है ताकि संचारी रोग के प्रति समुदाय को अवगत कराया जा सके और संचारी रोगों की रोकथाम की जा सके-डॉ नीलकण्ठ तिवारी

सभी को स्वस्थ रखना सरकार की प्राथमिकता है इसके लिए सरकार लगातार प्रयासरत है। इसको दृष्टिगत रखते हुए लगातार स्वास्थ्य सेवाओं में विस्तार करते हुये चिकित्सीय एवं स्वास्थ्य प्रदान की जा रही है-रविन्द्र जायसवाल

वाराणसी :  मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के बेहद महत्वकांक्षी कार्यक्रम संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ रविवार को जिले में उत्तर प्रदेश के मंत्रियों और विधायकों द्वारा मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले में किया गया। पर्यटन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ नीलकंठ तिवारी ने शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दुर्गाकुंड में आयोजित आरोग्य मेले में संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ फीता काटकर किया गया एवं राष्ट्रीय सेवा योजना बीएचयू संकाय के छात्रों द्वारा रैली निकाल कर किया गया। रैली में स्थानीय क्षेत्र के लोगों और बच्चों द्वारा सभी को संचारी रोग के बारे में जागरूक करते हुये रैली का आगाज किया। वहीं चिरईगांव प्राथमिक स्वास्थ्य मेला के साथ संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ मंत्री, उ0प्र0 अनिल राजभर ने किया। पहड़िया शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में लगे मेला और अभियान का शुभारंभ स्टाम्प एवं पंजीयन शुल्क राजमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जयसवाल ने किया। इसके साथ ही स्वामी विवेकानंद राजकीय चिकित्सालय भेलूपुर में मा0 विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ किया। वहीं बड़ागांव प्राथमिक स्वास्थ्य मेले और संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ पिंडरा विधायक डॉ अवधेश सिंह ने किया। वहीं अन्य ग्राम स्तरीय आरोग्य मेले और संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ स्थानीय पार्षदों एवं ग्राम प्रधानों ने किया। राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रोग्राम ऑफिसर डॉ ब्यूटी यादव के नेतृत्व में आगे भी संचारी रोग नियंत्रण अभियान के तहत जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित होते रहेंगे।

रविवारीय अवकाश का दिन एक बार फिर से जनपद के लिए सेहत की दृष्टि से बेहद खास रहा। दूर-दराज के इलाकों व मलिन बस्तियों में रहने वाले करीब 5,693 लोगों की चिकित्सीय एवं स्वास्थ्य जांच के साथ निःशुल्क दवा और परामर्श दिया गया। जनपद के दूसरे मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन 24 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों समेत कुल 52 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर किया गया। इस मेले का उद्देश्य जनपद के सभी नागरिकों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने, स्वास्थ्य सुविधाओं को उनके समीप पहुंचाने, रोगों के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए जन समुदाय को जागरूक करने तथा बेहतर उपचार प्राप्त कराने एवं गंभीर रूप से ग्रसित मरीजों को चिन्हित कर उच्चीकृत स्वास्थ्य इकाइयों पर संदर्भन करना है। मेले में बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के तहत सुपोषण स्वास्थ्य मेला का आयोजन किया गया और साथ ही पुष्टाहार वितरण किया गया। इसके साथ ही मेले में फाइलेरिया उन्मूलन अभियान के तहत दो वर्ष तक के बच्चों, गर्भवती महिलाओं, गंभीर बीमारी से ग्रसित और वृद्धजन को छोड़कर सभी को दवा खिलाई गयी।

चिरईगांव पीएचसी में अभियान का शुभारंभ करते हुए मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान मा0 मुख्यमंत्री जी का बेहद महत्वकांक्षी कार्यक्रम है और सरकार इसकी रोकथाम के लिए बेहद गंभीर है। उन्होने कहा कि सभी को स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए सरकार का प्रयास कर रही है और उसी क्रम में हर रविवार को स्वास्थ्य मेलों का आयोजन किया जा रहा है ताकि मरीजों को असुविधा न हो, स्वास्थ्य जांच के लिए दूर-दराज न जाना पड़े और उनके क्षेत्र में ही स्वास्थ्य सुविधा का लाभ मिल सके।

दुर्गाकुंड प्राथमिक स्वास्थ्य मेले में संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ करते हुये राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ नीलकंठ तिवारी ने कहा संचारी रोग की रोकथाम और नियंत्रण के लिए सरकार बेहद गंभीर है। इसके लिए सरकार द्वारा समय-समय पर जन जागरूकता अभियान चला रही है ताकि संचारी रोग के प्रति समुदाय को अवगत कराया जा सके और संचारी रोगों की रोकथाम की जा सके। डॉ नीलकंठ तिवारी ने समुदाय से अपील की है कि लोग अपने आसपास साफ-सफाई रखें और कहीं भी पानी जमा न होने दें। सभी के सहयोग और जागरूकता से ही संचारी रोग पर नियंत्रण किया जा सकता है।
पहाड़िया नगरीय पीएचसी मेले पर राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल ने कहा सभी को स्वस्थ रखना सरकार की प्राथमिकता है इसके लिए सरकार लगातार प्रयासरत है। इसको दृष्टिगत रखते हुए लगातार स्वास्थ्य सेवाओं में विस्तार करते हुये चिकित्सीय एवं स्वास्थ्य प्रदान की जा रही है।

विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने संचारी रोग अभियान का शुभारंभ करते हुये कहा कि समुदाय संचारी रोग के प्रति सजग रहे। अपने घरों के आसपास साफ-सफाई रखकर संचारी रोगों पर काबू किया जा सकता है।
बड़ागाँव प्राथमिक स्वास्थ्य मेले का उद्घाटन करते हुए विधायक डॉ अवधेश सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार लगातार प्रयास कर रही है ताकि हर तबके के लोगों को स्वास्थ्य सुविधा का निःशुल्क और बेहतर लाभ मिल सके।
मेले में 1800 पुरुषों, 2,759 महिलाओं और 1,134 बच्चों को देखा गया। इस दौरान 659 मरीज श्वसन, 123 लिवर, 383 मधुमेह, 596 उदर, 630 चर्म रोग एवं 2844 से अधिक अन्य रोगी व 361 गर्भवती महिलाओं व 97 कुपोषित बच्चों को देखा गया। वहीं 164 मरीजों को संदर्भित किया गया। इन स्वास्थ्य मेलों में आयुष्मान भारत योजना के स्टॉल लगा कर करीब 842 लाभार्थियों के गोल्डेन कार्ड भी बनाए गए। इन मेलों में जनता का काफी उत्साह दिखाई दे रहा है और लोग बढ़चढ़ कर स्वास्थ्य सुविधा का लाभ उठा रहे हैं।

दुर्गाकुंड प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर वरिष्ठ भाजपा नेता डॉ वीरेंद्र प्रताप सिंह, मंत्री प्रतिनिधि आलोक श्रीवास्तव, अक्षयबर सिंह, ज्ञानेश्वर, हरीश वालिया, सुरेश कश्यप, योगेश सिंह, आरडी सिंह, नवीन श्रीवास्तव मुख्य रूप से उपस्थित रहे। जनपद स्तर पर मेले के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ वीबी सिंह, नोडल अधिकारी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, उप मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी, समस्त ब्लॉकों के प्रभारी चिकित्साधिकारी, चिकित्सक, एआरओ, एचईओ, बीसीपीएम, बीपीएम, परामर्शदाता, लैब टैकनीशियन, एएनएम, आशा, स्वास्थ्य कार्यकर्ता समेत स्वास्थ्य विभाग के अन्य लोग मौजूद रहे।
आरोग्य मेला के अवसर पर प्रमुख रूप से चिकित्सा व उपचार के अलावा संदर्भन की सुविधा, गर्भावस्था, प्रसवकालीन व जन्म पंजीकरण का परामर्श, परिवार नियोजन संबंधी परामर्श एवं सेवाएँ, बच्चों में डायरिया, निमोनिया रोकने के लिए परामर्श सुविधा, टीबी, मलेरिया, डेंगू, फाइलेरिया व कुष्ठ की स्क्रीनिंग, बीपी, शुगर, मुख, स्तन एवं सर्वाइकल कैंसर की स्क्रीनिंग, तंबाकू और मद्यपान छोड़ने के लिए परामर्श आदि सुविधाएं भी मौजूद रही।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button