City

एक्शन एड की टीम ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से आ रहे प्रवासी मजदूरों तक पहुचाई राहत सहायता

वाराणसी: मंडुवाडीह, एक्शन एड की टीम के प्रदेश राज्य प्रबंधक खालिद चौधरी ने बताया कि वाराणसी के टेंगड़ा मोड़ रामनगर से मोहनसराय बाईपास वांया राजातालाब नेशनल हाईवे पर एक्शन एड के सहयोग से रेड ब्रिगेड ट्रस्ट की टीम द्वारा प्रवासी मजदूरों के लिये राहत व सहायता कार्य विगत 30 मार्च से चल रहा है। खालिद चौधरी ने बुधवार को कहा कि अब तक दस हजार से अधिक मजदूरों की सहायता की गई। कार्यकर्ताओं के द्वारा पके भोजन पैकेट पानी और जूस के बोतल तथा मास्क का वितरण भी मजदूर भाइयों के बीच किया गया। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त कार्यकर्ता रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर भी सहायता पहुँचा रहे है।

वाराणसी के विभिन्न स्टेशनों और बस स्टैंड पर अबतक हजारो प्रवासी मजदूरों तक भोजन, पानी, मास्क आदि का वितरण किया गया। खालिद चौधरी ने बताया कि 200 से अधिक मजदूरों को उनके गन्तव्य तक जाने के लिये सरकारी वाहनों से श्रमिकों को बस अड्डे तक पहुंचा कर गंतव्य तक पहुंचाने का काम रेड ब्रिगेड ट्रस्ट के कार्यकर्ताओं द्वारा लगातार सहायता कार्य किया जा रहा है। एक्शन एड की इस टीम में एसिड पीड़िताओ का संगठन रेड ब्रिगेड ट्रस्ट, आरेंज कैफे, ग्राम्या संस्थान व समाज सेवियों व कार्यकर्ताओं ने अपना सक्रिय योगदान दिया है। इस बीच रेड ब्रिगेड ट्रस्ट के प्रमुख अजय पटेल ने बताया कि वाराणसी, मिर्जापुर, गाजीपुर, भदोही, चंदौली आदि जिले के पिछड़े इलाकों में वंचित समुदाय के बीच टीम द्वारा एक्शन एड के सहयोग से खाद्य सामग्री, आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है ।

सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने कुछ दिन पहले अजय पटेल को इस आशय का प्रस्ताव रखते हुए बताया कि बड़ी संख्या में मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन पर भी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से वापस आ रहे प्रवासी श्रमिकों को भोजन जलपान, आदि की समय पर उपलब्धता नही है राजकुमार गुप्ता के प्रस्ताव को स्वीकारते हुए अजय पटेल ने वहाँ विगत दो दिनों से एक्शन एड के सहयोग से कार्यकर्ताओं द्वारा भोजन पैकेट, चूड़ा, सत्तू, बिस्किट, पानी, आदि उपलब्ध कराया जा रहा।

उन्होंने बताया कि इस स्टेशन पर दो श्रमिकों की मौत हो जाना बहुत ही दुखद और पीड़ादायक है। मृतक श्रमिकों के परिवार को सरकार बीस लाख रुपए मुआवजा दें। एक्शन एड के इस टीम में रेड ब्रिगेड ट्रस्ट के प्रमुख अजय पटेल के साथ शिवांशु श्रीवास्तव, अभिषेक, विशाल, ग्राम्या संस्थान के सह निदेशक सुरेंद्र यादव सहित सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता आदि लोग है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close