तनाव कम करने के लिए कोरोना के बजाय हँसोना बोलें

वाराणसी। रोटरी क्लब वाराणसी शिव गंगा द्वारा आज रविवार को अपराह्न ‘कोरोना महामारी से उत्पन्न आर्थिक संकट के चलते लोगों में बढ़ता मानसिक तनाव’ विषय पर बेबिनार का आयोजन किया गया। जिसमें रोटरी जनों ने सपरिवार सहभागिता की। इस विषय पर वरिष्ठ मनोवैज्ञानिक और मनो चिकित्सक रो. डा. तुलसी ने बतौर मुख्य वक्ता विचार व्यक्त करते हुए कहा कि 21वीं सदी में घटित कोविड 19 की महामारी ने पूरे विश्व समुदाय का सौ वर्षों का इतिहास बदलकर रख दिया है। एक महायुद्ध के रूप में इस अदृश्य शत्रु का प्रकोप भारतवर्ष के हर प्रान्त और समुदाय को भी अपनी गिरफ्त में लेते हुए अपनी विनाशलीला दिखा रहा है। इस महामारी ने न केवल व्यक्तिगत अपितु पारिवारिक और सामाजिक जीवन में परिवर्तन ला दिया है। हम सभी भय व असुरक्षा के वातावरण में जी रहे हैं। लोगों के सामने आर्थिक तंगी का माहौल पैदा हो गया है। जिसके कारण लोगों में भविष्य को लेकर मानसिक तनाव, चिंता, डिप्रेशन, अवसाद, घबराहट के लक्षण दिखाई पड़ रहे हैं। लोग ब्लड प्रेशर, डायबटिज, अनिद्रा के शिकार तो हो ही रहे हैं बल्कि नकारात्मक सोच की वजह से आत्महत्या की ओर जा रहे हैं। बेरोजगारी व आर्थिक संकट के चलते क्राइम का ग्राफ भी बढ़ रहा है। जो चिंतनीय है।
डा. तुलसी ने कहा कि तनाव से मुक्ति के लिए हमें बाह्य परिवर्तन के बजाय आंतरिक परिवर्तन पर ध्यान देने की जरुरत है। इसके लिए परिवार में आपसी सामंजस्य स्थापित करने हेतु सोशल डिस्टेसिंग के बजाय फिज़िकल डिस्टेसिंग रखते हुए सामाजिक सामीप्य, स्नेह व विश्वास को बढ़ाने की आवश्यकता है। कोरोना के बजाय हँसोना बोलें।
डा. तुलसी ने कहा कि सोशल केयर व सोशल शेयर के द्वारा नकारात्मक चीजों से हम बच सकते हैं। मोबाइल, टी वी, इण्टरनेट के ज्यादा इस्तेमाल से बचें। आपस में सकारात्मक वार्तालाप के साथ मेडिटेशन, प्राणायाम, योग, व्यायाम को अपनायें। घर पर रहकर कुछ रचनात्मक कार्य करें जिससे हमारा मन व विचार भय व असुरक्षा से हटकर सकारात्मकता की ओर बढ़े। बेबिनार में ओपेन सेशन के दौरान लोगों ने डा. तुलसी से अपने सवालों का जवाब भी जाना।
क्लब अध्यक्ष आनन्द बर्मन ने कहा कि इस विकट स्थिति में हम रोटरी आदर्शों को अपनाकर न केवल अपनी अपितु समाज की भी ज्यादा से ज्यादा मदद करें। इससे पूर्व प्रारम्भ में संस्थापक अध्यक्ष रविशंकर सिंह ने स्वागत, अंत में गिरीश गुप्ता ने धन्यवाद तथा सचिव अनूप नागर ने संचालन किया। बेबिनार में मुख्य रूप से अजय पाण्डेय, दिलीप गुप्ता, ज्ञानेश सेठ, मिर्जा काज़िम रजा, अवधेश वर्मा, गिरीश गुप्ता, गिरीश चन्द्र, विष्णु जैन, दीपिका दास, डा. डी एम गुप्ता, शिखा बर्मन, अश्वनी शाह, देवानन्द सिंह, इन्तखाब आलम, रविनन्दन तिवारी, अजय कुमार, आशुतोष गुप्ता, श्याम जी गुप्ता,तेगबहादुर जायसवाल, मंजू गुप्ता, रुखसार रजा आदि उपस्थित थे।

Show More

Related Articles

Back to top button