*घरेलू महिला हिंसा के खिलाफ बेनीपुर वासियों ने निकाली साइकिल यात्रा*

वाराणसी : आराजीलाइन ब्लॉक के ग्राम बेनीपुर में सादिका परियोजना के संयुक्त तत्वाधान में “जिम्मेदार पितृत्व अभियान” के दूसरे दिन ग्रामीण पुनर्निर्माण संस्थान के निदेशक राजदेव चतुर्वेदी जी का बेनीपुर की महिलाओं ने किया गर्मजोशी के साथ स्वागत । राजदेव चतुर्वेदी जी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज हम सब यहाँ समाज मे होने वाली घरेलू हिंसा एवं यौन उत्पीड़न एवं किशोरियों के साथ छेड़छाड़ की घटनाओं से चिंतित हैं । समाज मे कहीं भी ऐसी घटनाएं न होने पाए इसलिए जिम्मेदार पितृत्व की भूमिका निभाने के लिए बेनीपुर के पुरुषों जागरूक करते हुए आगे आने का आवाहन किया । सवैधानिक मूल्यों का जिक्र करते हुए कहा कि संविधान ने स्त्री पुरुष बच्चे बूढ़े सभी को समानता का अधिकार दिया है ,सभी मानव होते समान है ।

सभी को समाज मे सम्मान पूर्वक गरिमा पूर्ण जीवन जीने का अधिकार मिला है लेकिन समाज में आज भी विशेष कर महिलाओं के साथ समानता का व्यवहार नहीं किया जाता । समाज की सबसे पीड़ित एवं शोषित महिलाएं ही होती है । उन्हें समाज के द्वारा हर जगह दोयम दर्जा ही दिया गया है । आज महिलाएं अपने घरों में ही घरेलू हिंसा, यौन उत्पीड़न का शिकार हो रही है । महिलाओं को उनका अधिकार दिलाने में पुरुषों को संवेदनशील होना होगा तभी एक खुशहाल घर परिवार हिंसा मुक्त गाँव का निर्माण संभव हो पायेगा । समाज मे लिंगभेद,ऊंच-नीच भेदभाव मिटाने के संकल्प के साथ आराजीलाइन के तीन गॉंव गनेशपुर, नागेपुर, बेनीपुर को घरेलू हिंसा यौन उत्पीड़न मुक्त बनाने के लिए पुरुषों नेतृत्व करने की आवश्यकता है ।

अभियान के अगली श्रृंखला में लक्ष्य नाट्यम की टीम के द्वारा “क्या करे क्या न करे” घरेलू हिंसा यौन उत्पीड़न, दहेज उत्पीडन,प्रजनन स्वास्थ्य, पर आधारित नुक्कड़ नाटक का मंचन बेनीपुर की तीन बस्तियों में किया गया तथा बेनीपुर गांव की गली गली में घूम घूम कर साइकिल यात्रा निकाल कर गांव के लोगों को घरेलू हिंसा यौन उत्पीड़न मुक्त समाज की स्थापना के लिए जागरूक करते हुए अपनी भूमिका निभाने का आग्रह किया गया । जिम्मेदार पितृत्व के द्वारा ही द्वारा ही समाज मे समानता की स्थापना की जा सकती है ।

सम्पूर्ण अभियान में मंच संचालन विकास बाजपेई जी द्वारा किया गया कार्यक्रम की अध्यक्षता सोनी जी में की एवम कार्यक्रम में सभी प्रतिभागियों का धन्यवाद ज्ञापन बेंचु जी द्वारा किया गया अमरावती ने अभियान की सफलता के लिए टीम शाधिका की सराहना करते हुए कहा कि इस पहल से ग्राम की महिलाओ को घरेलू हिंसा यौन उत्पीड़न के खिलाफ संवल मिला है । अभियान के दौरान शाधिका टीम से सरिता, रणविजय, फौजिया , बाबू थापा ,कृष्णा चौबे, अमर दुबे, अवंतिका, राहुल तिवारी, विशाल, राजेन्द्र, किसन,अंशिका, सरोज, धनरा, नितेश जी सक्रिय रूप से उपस्थित रहे ।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button