बच्चों को संस्कारवान बनाना शिक्षा का उद्देश्य- प्रोफेसर पीसी उपाध्याय


बचपन प्ले स्कूल का दसवाँ वार्षिकोत्सव संपन्न

वाराणसी बचपन प्ले स्कूल कंचनपुर के दसवें वार्षिकोत्सव समारोह को संबोधित करते हुए बिलासपुर सेंट्रल विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ के पूर्व कुलपति प्रोफ़ेसर पी सी उपाध्याय ने कहा कि वर्तमान समय में बच्चों को संस्कारवान बनाने की जरूरत है।कहा की प्राथमिक विद्यालय,महाविद्यालय और उच्च शिक्षण संस्थान में विशेष शिक्षा के साथ संस्कार दिए जाने की भी जरूरत है। कहा की आज समाज के सामने कई विरोधाभास और सामाजिक विकृतियां यक्ष प्रश्नों के रूप में खड़े हैं। जिसका निदान परिवार व शिक्षण संस्थाओं के पास ही है। स्कूल के संस्थापक डॉ टी पी सिंह ने आरएमएस विद्यालय व बचपन प्ले स्कूल संस्थान की गतिविधियों के बारे में विस्तार से बताया।इस अवसर पर अनुष्का जायसवाल और न्यासॉ ने सरस्वती वंदना नृत्य से कार्यक्रम की शुरुआत की। एलकेजी के छोटे बच्चों ने जिंगल बेल पर मनोहारी प्रस्तुति दी। लुक्का छिप्पी गीत पर यूकेजी के छात्रों ने नृत्य प्रस्तुत किया।इन छोटे बच्चों के नृत्य को देखकर लोग भाव विभोर हो गए। आज है संडे गीत पर नर्सरी के बच्चो ने खूब धमाल मचाया। धीमे धीमे गीत तथा मैं जंगल का राजा हूं पर बच्चों ने एक से बढ़कर एक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। विद्यालय के छात्रों ने बेटी बचाओ, कुपोषण, सामाजिक कुरीतियों तथा सामाजिक भेदभाव पर नाटक भी प्रस्तुत किया। इस दौरान यहां पर राजेश कुमार सिंह, सपना सिन्हा,बंदना मिश्रा, वंदना सिंह, किरण शर्मा रेखा सिन्हा स्वाति सहित अभिभावक व छात्र भारी संख्या में उपस्थित थे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button